विश्व कैंसर दिवस शुक्रवार को जे.पी.अस्पताल, एमपीव्हीएचए ने मिलकर जे.पी.अस्पताल में हस्ताक्षर अभियान एवं प्रदर्शिनी लगाई गई। जिसमें सभी व्यक्तियों को पैम्पलेट देकर कैंसर होने के कारणों को बताया गया जिसमें तम्बांकु, गुटखा, बीड़ी, सिगरेट आदि सेवन नहीं करने की सलाह दी गई। लोगों ने C0TPA -2003 एक्ट की धारा 4,5,6,7 का समर्थन करते हुए WHO विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक 01 अरब लोग धूम्रपान और तम्बाकु का सेवन करते है जिनमें से आधे प्रतिशत लोगों की सामान्य उम्र से पहले मृत्यु होने से पहले संभावना बड़ जाती है।

भारत में यह संख्या तकरीबन 10 से 12 लाख प्रति वर्ष है। मध्य प्रदेश में 34 प्रतिशत लोग तम्बांकू का सेवन करते हैं। WHO विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार स्तन कैंसर महिलाओं में सबसे अधिक होने वाला कैंसर है, जो हर साल 2.1 मिलियन महिलाओं को प्रभावित करता है। कैंसर के सामान्य लक्षण शरीर के किसी भी भाग से अधिक पीप मवाद या खून का लम्बे समय तक आते रहना। गुठली या सूजन का अभरना और उसका तेजी से बढ़ना। ऐसे घाव जो जल्दी अच्छे न हो और उनका लगातार बने रहना। पेशाब करने में तकलीफ या रूकावट होना एवं पेशाब में खून आना। एक लम्बे समय तक गला खराब रहना व सामान्य उपचार पर भी ठीक नही होना। खांसी का लगातार होना और सामान्य इलाज से ठीक नही होना एवं खून आना। खाना निगलने में तकलीफ रहना,व खून की उल्टी होना। गले में खरखराहट एवं आवाज में बदलाव होना। चमड़ी पर मस्सा,तिल अथवा हमेशा खुजली या घाव का होना व आकार में बढ़ना। बुखार का निरंतर बना रहना व उसका सामान्य औषधि से ठीक नही होना।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी जिला भोपाल के दिशा निर्देशो के फलस्वरूप इस कार्यक्रम को सफल बनाया गया। कार्यक्रम में सिविल सर्जन डॉ. राकेश श्रीवास्तव, जय प्रकाश चिकित्सालय भोपाल डॉ. यू.डी. सक्सेना, नोडल अधिकारी कैंसर, डॉ. योगेन्द्र श्रीवास्तव नोडल अधिकारी एन. सी. डी. डॉ. नीलिमा सोनी, डॉ. परवेज खान, श्री गौरव शर्मा श्री संजय शर्मा सहायक कार्यक्रम अधिकारी तम्बाकू नियंत्रण एमपीव्हीएचए भोपाल श्री पवन चौहान, श्रीमती अनिता लाखरा, श्रीमती आर.गीरजा, श्रीमती शशि बाला झा, श्री गोरीशंकर उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here